शनिवार, फ़रवरी 19, 2005

महादेवी वर्मा

(२६ मार्च १९०७ - १२ सितंबर १९८७)

महादेवी वर्मा जी की कविता सागर पर प्रेषित हुई रचनाएँ :

जो तुम आ जाते

कौन तुम मेरे हृदय में
उत्तर
तेरी सुधि बिन क्षण क्षण सूना
व्यथा की रात
अश्रु यह पानी नहीं है
मैं प्रिय पहचानी नहीं

5 टिप्पणियाँ:

4:06 pm पर, Blogger डॉ. नूतन डिमरी गैरोला- नीति ने कहा ...

बहुत सुन्दर ब्लॉग है... महादेवी के के जन्मदिवस २६ मार्च पर यह पोस्ट चर्चामंच पर होगी... इस बेशकीमती पोस्ट के लिए सहृदय धन्यवाद |

 
4:07 pm पर, Blogger डॉ. नूतन डिमरी गैरोला- नीति ने कहा ...

शुक्रवार की चर्चा देखें ..
http://charchamanch.blogspot.com

 
12:24 am पर, Blogger Munish ने कहा ...

धन्यवाद | बहुत वर्षों में कुछ लिखा नही... दुबारा शुरू करने का प्रयास करूंगा |

 
2:59 am पर, Blogger डॉ. नूतन डिमरी गैरोला- नीति ने कहा ...

जी जरूर कीजियेगा... सादर
http://charchamanch.blogspot.com/2011/03/blog-post_25.html

 
7:24 am पर, Blogger kuldeep thakur ने कहा ...

जय मां हाटेशवरी...
अनेक रचनाएं पढ़ी...
पर आप की रचना पसंद आयी...
हम चाहते हैं इसे अधिक से अधिक लोग पढ़ें...
इस लिये आप की रचना...
दिनांक 19/07/2016 को
पांच लिंकों का आनंद
पर लिंक की गयी है...
इस प्रस्तुति में आप भी सादर आमंत्रित है।

 

टिप्पणी करें

<< मुखपृष्ट